Posts

Sattamatka- भारतीय सट्टा की एक अनूठी दुनिया

Sattamatka , जिसे हम आमतौर पर Satta Matka के नाम से जानते हैं , भारतीय सट्टा के प्रमुख रूपों में से एक है। इस खेल की जड़ें 1960 के दशक में मानी जाती हैं , जब इसे सबसे पहले मुंबई में आरंभ किया गया था। यह खेल एक प्रकार का लॉटरी है जो विशिष्ट संख्याओं पर आधारित होता है। इस लेख में हम Sattamatka की पूरी जानकारी देंगे और इसके विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डालेंगे। Sattamatka का इतिहास Sattamatka की शुरुआत मुंबई में कपास के व्यापार से हुई थी।   Golden Matka   कपास के भावों पर आधारित सट्टा लगाना इस खेल की नींव थी। समय के साथ , इस खेल ने कई परिवर्तन देखे और अंततः यह संख्याओं पर आधारित खेल बन गया जिसे आज हम Satta Matka के नाम से जानते हैं। Indiansatta की लोकप्रियता तेजी से बढ़ी और यह पूरे भारत में फैल गया। Sattamatka का खेल कैसे खेला जाता है ? Sattamatka का खेल संख्याओं पर आधारित होता है। खिलाड़ी एक से सौ तक की संख्याओं में से किसी एक संख्या
Recent posts